आज का ब्लॉग वैसे लोगो के लिए है जो लोग कोई भी कही  हुई बात या काम भूल जाते है| कई ऐसे बच्चे है जिनके उम्र बाढ़ने के साथ -साथ याददाश्त कमजोर होती जाती है | आपको कही हुइ बात या फिर जो पढ़ा हुआ जल्दी याद नहीं आता है|  तभी ये सवाल कितने लोगो के दिमागों में चलता है की आखिर अपनी याददाश्त कैसे तेज करें? तो आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं है और आपको इसके लिए ज्यादा मेनहत और महंगी दवाइयों की भी जरूरत नहीं है | क्यों की याददाश्त बढ़ने में आपको घरेलु उपाय काफी  मदद कर सकते है | तो आप इस ब्लॉग को अच्छे से और पूरा पढ़े | 

इसे भी पढ़े  :बालो को लम्बा और मजबूत कैसे बनाये ?

जैसे- जैसे हमारी उम्र बढ़ती है तो हमारी दिमाग की नसे सिकुड़ने लगता है | जिसके वजह से  कोशिकाए नस्ट होने लगती है | जिससे हमारे याददाश्त कमजोर होने लगती है | पहले ऐसे परेसानी उम्रदाज लोगो में ही होता था| पर अब इस समस्या से बच्चे व जवान  भी परेशान रहते है | जिस वजह से रोजमरा की जिंदगी में अनेको प्रकार की परेशानिया आती है | याददाश्त कमजोर होने का मुख्य कारण है खान -पान की गड़बड़ी ,पढ़ाई और काम का प्रेशर के साथ-साथ तनाव या फिर भरपूर पोषण न मिलने कि वजह से ऐसी समस्या सामने आती है |

जटामांसी के इस्तेमाल से अपनी याददाश्त को तेज करें ||

अपनी याददाश्त कैसे तेज करें ?

जटामांसी एक सहपुष्पी औषधि पौधा होता है | इसे जटामांसी इस लिए कहा जाता है की इसके जड़ो में जटा या बाल जैसे तंतु लगे रहते है | जिसे बालझड़ भी कह सकते है | यह हिमालय के पर्वतो पर होता है और ये आपको आसानी से पतंजलि या फिरआयुर्वेद के दुकान पर मिल जायगा | इसका  इस्तेमाल कमजोर याददाश्त वाले व्यक्ति कर सकते है |

 सबसे पहले एक गिलास हल्के गुनगुने दूध में एक चम्मच जटामांसी मिला कर आप इसका रोजाना सेवन करे | इसके इस्तेमाल से आपका का याददाश्त  बढ़ने में मदद मिलेगा है | इसका  का ज्यादा सेवन या उपयोग करने से गुर्दे को नुकसान पहुँचता है और इससे पेट दर्द की समस्या हो सकती है|

इसे भी पढ़े  : क्या पीरियड में गर्भधारण कर सकते है ?

अपनी याददाश्त तेज करने के लिए सेब का इस्तेमाल करें |

अपनी याददाश्त कैसे तेज करें ?

अपनी याददाश्त कैसे तेज करें ? इसका सीधा जवाब है की  हम सभी जानते है सेब स्वादिष्ट और पौष्टिक फलों में से एक है और ये लगभग सभी लोगों का लोकप्रिय फल है |  क्या आप जानते है की सेब में  पोटेशियम और एंटीऑक्सीडेंट होता है और ये हमारे मस्तिष्क की कोशिकाओं को नुकसान से बचाता है| इन कोशिकाओं को नुकसान पहुंचने से हमारे बौद्धिक क्षमता में गिरावट आ सकती है|  सेब पार्किंसन और अल्जाइमर जैसी बीमारी से बचाने की छमता रखता है |

 सेब का सेवन खाली पेट नहीं करना चाहिए | क्यों की खाली पेट सेब का सेवन से हार्ट की बीमारी की खतरा रहता है | इससे एलर्जी , वजन बढ़ना ,दस्त जैसी सस्मस्या होने लगती है | 

नारियल का तेल |

अपनी याददाश्त कैसे तेज करें ?

नारियल एक बहुत ही उपयोगी फल है और इसका कच्चा नारियल पानी बहुत लोग पसंद भी करते है | इसका इस्तेमाल दक्षिण भारत में खाना पकाने के लिए करते है |नारियल का तेल हमारे दिमाग की कोशिकाओं को ईंधन देता है | जो हमारा दिमाग को तेज करता है और इसके साथ -साथ बालो को भी बढ़ने में मददत करता  है |  

बालो को घना और मोटा करता है इसके साथ-साथ बेहद खूबसूरत और चमकदार बनाने में मददगार साबित होता है | इसका पैदावार केरल के अलावा पश्चिम बंगाल ,महराष्ट तथा समुन्द्र के तटीय क्षेत्रों पर होता है | नारियल का तेल गर्म होता है और ये हर किसी को नहीं सूट करता है | इसलिए सावधानी रखते हुए इसका इस्तेमाल करें|

हरी सब्जियां के इस्तेमाल से अपनी याददाश्त को तेज करें  | 

हरी सब्जियां के इस्तेमाल से अपनी याददाश्त को तेज करें  |

स्वास्थ और सरीर तंदुरुस्त रहता है आपने अपने घरों में बड़ो को यह कहते जरूर सुना होगा की हरी सब्जी खाने से | हरी सब्जियां सामान्य तौर पर सम्पूर्ण स्वस्थ के लिए बहुत अच्छी मानी जाती है जैसे तेज दिमाग के लिए पालक ,केले ,ब्रोकोली और अन्य पत्तेदार हरी सब्जियां सहायक होती है | यहाँ तक की ब्लूबेरी,रस्पबेरी और ब्लैकबेरी भी एंटीऑक्सीडेंट से भरे होते है ,जो मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बनाए रखता है | 

दालचीनी और शहद |

दालचीनी और शहद  से अपनी याददाश्त को तेज करें

दालचीनी मसाला ऐसी चीज है |  जो भारत के प्रयुक्त पुराने मसले में से एक है और दालचीनी के साथ शहद को मिला देने स जो मिश्रण बनता है वो दवाइयों से बेहतर माना जाता है | सबसे पहले आप सात से आठ ग्राम दालचीनी का पाउडर लेकर शहद में मिलाकर  रोज लेने से दिमाग की कमजोरी दूर होती है और दिमाग तेज होता है | 

मगर दालचीनी के नुकसान भी निम्न है इसे गर्भवती महिला को नहीं देना चाहिए ,क्यों की गर्भ को गिरा देता है ,और अधिक मात्रा इस्तेमाल करने से सिर दर्द भी होता है | 

याददाश्त तेज करने  के लिए डार्क चॉकलेट का इस्तेमाल करें | 

याददाश्त तेज करने  के लिए डार्क चॉकलेट का इस्तेमाल करें |

चॉकलेट एक ऐसी चीज है जो बच्चे से लेकर बड़ो तक सबको पसंद है | क्यों की बाजार में अब हर फ्लेवर  की उपलब्ध है   आपने ये बात तो सुना होगा की चॉकलेट खाने से मूड अच्छा हो जाता है | और ये कई तरह के बिमारिओ में लाभदायक है | डार्क चॉकलेट ब्रेन  बूस्टर का भी काम करता है और इसे खाने से मेंटल हेल्थ दुरुस्त रहती है | दिल के बिमारी को भी दूर करता है|

इसका ज्यादा सेवन भी नुक्सानदायक है जैसे सीने में जलन ,सिर दर्द ,घबड़ाहट जैसी समस्या भी हो सकता है | 

 दही के सेवन से याददाश्त को तेज करें |

 दही के सेवन से  |

ये तो हम सभी लगभग जानते है की दही फायदेमंद चीज है और इसका स्वाद खट्टा होने के कारण इसे लोग कई तरह से और कई प्रकार से खाने में उपयोग करते है | और यह अनेक रोगों में काम आता है जैसे पेट के गर्मी ,और मोटापा कम करने के लिए ,या  मुंह के छाले को दूर करने में ,या फिर हृदय रोग में फायदेमंद है दही में अमीनो एसिड पाया जाता है जिससे इंसान का तनाव दूर होता है अगर आप का याददाश्त  कमजोर हो गई हो तो दही का सेवन से आपको जरूर लाभ मिलेगा | 

दही के कुछ नुकसान भी है जैसे – शरीर में सूजन हो तो नहीं खाना चाहिए , रात में दहीखाने से सर्दी,खांसी जोड़ो के दर्द  जैसी समस्या सामने आने लगती है|

इसे भी पढ़े  : बिज़नेस शुरू कैसे करे?

मछली के सेवन से याददाश्त को तेज करें |

मछली के सेवन से याददाश्त |

आप यह जरूर सुने होंगे कि मछली खाने से दिमाग तेज होता है यह सच है और हमें हफ्ते में कम -से -कम एक बार मछली का सेवन जरूर करें | अपनी याददाश्त कैसे तेज करें ? एक्सपोर्ट के मुताबिक फिश ऑयल में ओमेगा -3 फैटी एसिड होता है जो बच्चो के दिमाग और आँखों के विकास में लाभदायक होता है और भी कई फायदे है जैसे-कैंसर के बचाव में,दिल की सुरक्षा में ,डिप्रेशन दूर करने में,दिमाग तेज करने में,उच्च क्चाप को नियंत्रित करने में|

 मछली खाने के नुकसान | इसे गर्भवती महिला को सेवन करने से पहले डॉक्टर का जरूर लें | और बीपी लो जैसी समस्या वाले व्यक्ति को इसका परहेज करना चाहिए | मछली का सेवन किसी भी बीमारी को बढ़ावा देने में मदद करती है |       

नींद पूरी न होना |

नींद पूरी न होना |

आज की भागदौड़ जिंदगी में लगभग कितने लोग नींद नहीं पूरा होने के वजह से परेशान रहते है | ऐसा इस लिए होता है की रात में कुछ लोग काम करते है, या फिर मोबाइल का इस्तेमाल करने की वजह से |हम सभी जानते है की इंसान को कम से कम सात से आठ घंटे सोना जरूरी है |  डॉक्टर का कहना ये है की कम सोने से अनेक तरह की बीमारियां उत्पन्न होती है, जैसे की नींद पूरा नहीं होने पर हमारे शरीर के हार्मोन असंतुलित हो जाते है | 

इसकी वजह से हार्ड कैलोरी फ़ूड खाने को मन करता है , जो की स्वास्थ के लिए सही नहीं है और दिल के बीमारी भी हो सकता है, या हार्ड फेलियर,हार्ड अटैक,हार्ड ब्लडप्रेसर जैसी बिमारिओ का खतरा बढ़ जाता है इस लिए मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए सोना भी बहुत जरुरी है |

 उम्मीद करते है की ये ब्लॉग आपको अच्छी लगी होगी और आप का सवाल अपनी याददाश्त कैसे तेज करें ? का जवाब पूरी तरह से मिल गया होगा | आप अपनी राय कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताये की आपको ये ब्लॉग कैसा लगा | 


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *