body kaise banye

बॉडी कैसे बनाये ?

आज कल हर सख्श खूबसूरत दिखना चाहता है . खूबसूरत दिखने के लिए एक सुडौल शरीर का होना बहुत ही ज़रूरी है अब बात आती है की हम अपने शरीर को कैसे सुडौल या फिर कसा हुआ बना सकते है . तो आइ ये हम अपनी वेबसाइट कुछ सीखे के माध्यम से आपको बताने की कोसिस करेंगे की आप का शरीर कैसे सुन्दर और मजबूत दिख सकता है , या आप अपनी बॉडी कैसे बना सकते है .

रसोई युक्तियाँ

रसोई युक्तियाँ एक रेस्तरां की तरह आपकी रसोई चलाने में मदद करने के लिए

रेस्तरां की रसोई में खाना पकाने के दिनचर्या से घर पर खाना बनाने का अनुभव अलग है। Mise en place का अर्थ है “अपनी जगह सब कुछ,” और यह हर रेस्तरां के लिए सबसे महत्वपूर्ण वाक्य हैं। यदि सब कुछ अपने उचित स्थान पर होगा तो खाना बनाना तेज, आसान और अधिक सुखद होगा। रसोई युक्तियाँ एक रेस्तरां की तरह आपकी रसोई चलाने में मदद करने के लिए

यूट्यूब

यूट्यूब से पैसे कैसे कमायें ?

आज के दौर में ऑनलाइन या कह सकते है, डिजिटल रूप से लाखो लोग घर बैठे ही ढेरों पैसे कमा रहे है। डिजिटल रूप से पैसे कमाने का सबसे बेहतरीन तरीका यूट्यूब है। यूट्यूब के लिये जरूरी नही आपको किसी क्षेत्र में विशेष योग्यता रखनी हो, आप अपनी रुचि के अनुसार भी यूट्यूब में अपना करियर बना सकते है। इसके लिये आपको कड़ी मेहनत , लगन, धैर्य और खुद पर विश्वास रखने की जरूरत है, क्योँकि यह एक ऐसा रास्ता है, जिसपर चलते ही जाना है। जितना आप इस रास्ते पर चलेंगे , उतना आप खुद को पहले से बेहतर स्थिति में देखेंगे। यदि आप भी यूट्यूब से पैसे कमाने के लिये सोच रहे है, तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए है। इसके लिये कोई बड़ी प्रक्रिया नही है और ना ही किसी निवेश की जरूरत है। इस लेख में हम आपको यूट्यूब से पैसे कमाने के बारे में बताने के साथ-साथ शुरुवात से सफलता तक के यूट्यूब सफर के बारे में बताएंगे।

बिज़नेस

बिज़नेस शुरू कैसे करे?

कुछ सफल उद्यमी (बिज़नेसमैन) को देखकर कई लोगो का ये सपना होता है, कि वो अपना खुद का बिज़नेस शुरू करें। बिज़नेस करना तो बहुत से लोग चाहते है, लेकिन हर कोई बिज़नेस कर नही पाता है। कुछ लोग के पास विचार (आइडिया) तो होते है, लेकिन पूंजी नही होती है। जिनके पास पूंजी होती है , पर आत्मविश्वास नही होता है कि बिज़नेस में निवेश करेंगे तो उन्हें लाभ होगा। कुछ ऐसे भी लोग है जिनके पास विचार (आइडिया) और जमा पूंजी दोनों है और वर्तमान में वो नौकरी (जॉब) करते है। ऐसे लोग पारिवारिक , सामाजिक और वित्तीय दवाब में आकर नौकरी छोड़कर बिज़नेस का जोखिम (रिस्क) नही ले पाते है।