क्या आप भी जानना चाहते है ,की इंसान के मरने के बाद क्या होता है ? तो आप इस ब्लॉग को पूरा पढ़े | इस धरती पर मनुष्य का जीवन जितना सत्य है ,तो उतना ही मनुष्य का मरना भी सत्य है | जिसे कोई चाह कर भी नहीं टाल सकता है | इसके बारे में और जानने के लिए आप इस ब्लॉग को पूरा पढ़े |

इस्लाम धर्म में मरने के बाद क्या होता है

यह एक ऐसा सवाल है ,जिसके बारे में हर वयक्ति जानना चाहता  है | आप किसी भी धर्म मे देखे तो लगभग सभी धर्म मे यही यकीन दिलाया गया है की मौत के बाद भी जिंदगी है लेकिन जो धर्म से प्रेय है |उनका मानना है कि मौत के बाद इंसानी जिस्म सड़ गल जाती है तो दूसरे जिंदगी का कोई सवाल ही नहीं होता है |

इस्लाम कुरान हमें यकीन दिलाता है कि मौत के बाद भी जिंदगी है और एक फैसले का दिन तय ( तारीख तय) है |  जिसे कयामत का दिन भी कहा जा सकता है | इस दिन हर एक शख्स के अच्छे और बुरे काम देखा जाता है, जो भी शख्स नेक काम इस दुनिया मे किया होगा उसे जन्नत में डाल दिया जाएगा |जो सख्स बुरे काम किया होगा, उसको जहन्नुम मे फेक दिया जाएगा | हम लोगों के द्वारा कोई कल्पना नहीं की जा सकता  है  क्योकि इस दुनिया से मौत की दुनिया पूरी तरह अलग होगी |

हिन्दू धर्म में मरने के बाद क्या होता है  

आइए दोस्तों आज हम सभी जानते है ,हिन्दू धर्म में मरने के बाद क्या होता है | इस धर्म मे किसी की मृत्यु के बाद उसके मृत शरीर को जलाया जाता है। इसके पीछे धार्मिक और साइंटिफिक दोनों कारण है। दोस्तो हिंदू धर्म के अनुसार मनुष्य का शरीर 5 तत्वों आग, पानी, हवा, आकाश और धरती से मिलकर बना होता है। अगर किसी भी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है, तो शरीर से आत्मा बाहर निकल जाती है क्योंकि हिन्दू धर्म के अनुसार आत्मा अजर-अमर रहती है।

जिसके वजह से वापस उन्हीं पांच तत्वों में मिलना होता है। यही वजह है कि जिस व्यक्ति की मौत हो जाती है, तो सबसे पहले उसके शरीर को गंगाजल से स्नान कराया जाता है। उसके बाद उसको अग्नि दी जाती है और फिर शरीर की राख को गंगा में विसर्जित किया जाता है।

मरने के बाद शरीर के साथ क्या -क्या होता है

एक न एक दिन तो सबको मरना है यह बात सभी जानते है | मरने के बाद हमारा शरीर अलग – अलग प्रक्रिया से काम करता है ,और रही बात हमारे आत्मा का तो उसका काम अलग तरीके से होता है | जब कोई भी व्यक्ति का मौत हो जाता है ,तो मरने के कुछ ही सेकंड बाद ही शरीर में से पूरी तरह से ऑक्सीजन निकल जाती है |

वही एक तरफ दिल को न काम करने के वजह से खून शरीर के निचले हिस्से में जा कर जम जाता है साथ ही अंगो का रंग फीका पड़ने लगता है जिसे आमतौर पर पोस्टमास्टम भी कहा जाता है | इंसान के मरने के एक घंटा बाद शरीर ठंडा पड़ जाता है, और तीन से चार घंटे में मास्पेसिया पूरी तरह से ढीली पड़ जाती है | जिसके बाद शरीर सड़ने में की प्रकिरिया शुरू होने लगती है |     

मृत्यु के बाद का सच क्या है

किसी भी व्यक्ति के मृत्यु के बाद  उसका जन्म लम्बे समय तक, नवीन शरीर के निर्माण तक नहीं होता,ऐसी आत्माएं लोगों के लिए हमेशा अच्छा ही करती हैं और सन्मार्ग दिखाती हैं, इन्हें पितृ कहा जाता है | पितृ शक्ति का होना एक सुरक्षा  है, जो व्यक्ति की रक्षा और साथ ही साथ भला चाहती  है | 

किसी भी व्यक्ति के मरने के बाद उसके साथ क्या होता है

अगर बात किया जाए तो , हिंदू धर्म के अनुसार मृत्यु के बाद उसके कर्मों के हिसाब से  मनुष्य को स्वर्ग या नरक की प्राप्ति होती है। पुराणों के अनुसार जिस व्यक्ति ने अच्छे कर्म कया रहते है , उसका प्राण हरने देवदूत जाते हैं और उसे स्वर्ग ले जाते हैं। जबकि जो मनुष्य जीवन भर बूरे कर्म किया होता है, उसके  प्राण हरने यमदूत जाते  हैं,जो की उसे नर्क में ले जाते हैं।

शरीर छोड़ने के बाद आत्मा कहाँ जाता है

क्या आप को पता है की मरने के बाद आत्मा कहा जाती है,नहीं तो आप इसे पढ़े और जाने की मरने के बाद आत्मा कहा जाती है | पुराणों के अनुसार देखा जाय तो अरग कोई व्यक्ति मरता है ,तो उसे किस मार्ग पर चलना है यह उसके कर्मो पर निर्भर करता है और वह 17 दिन के यात्रा कर के यमपुरी नदी पहुँचता है | जहा से सीधे वह यमलोक पहुँचता  है और वही उसके कर्मो के फल मिलते है |    

मृत्यु के बाद आत्मा कितने दिनों तक धरती पर रहता है

जैसा की लोग भी कहते है की , आत्मा अमर है उसका अंत नहीं होता, वह सिर्फ शरीर रूपी वस्त्र बदलती है | इसके बाद उसे को फिर उसी घर में छोड़ दिया जाता है ,जहां उसने शरीर का त्याग किया था. और आत्मा उसी जगह 13 दिन के उत्तर कार्यों तक वहीं रहता है और जैसे ही कार्य पूरा होता है उसके 13 दिन बाद वह फिर यमलोक की यात्रा करना पड़ता है | इससे कहा जा सकता है की आत्मा 13 दिन तक धरती पर रहता है | 

जानवरों के मरने के बाद क्या होता है

कई सारे ऐसे लोग है, जिनको जानवरो से बहुत ज्यादा प्यार होता है | जिसके वजह वो लोग सोचते रहते है की आखिर जानवरों के मरने के बाद क्या होता है ,मानव हो या फिर जानवर मरने के बाद उसका शरीर पीला होने लगता है और इसी प्रक्रिया के दौरान जानवर का शरीर नष्ट होना शुरू हो जाता है ,या फिर कहाँ जाए तो सड़ना शुरू हो जाता है | विस्तार में कहें ,तो सड़न का मतलब प्रोटीन का विघटन होने लगता है |   

हेलो दोस्तों आप सभी आज का हमारा ब्लॉग ‘मरने के बाद क्या होता है’ पढ़ कर कैसा लगा | उम्मीद करते है की यह ब्लॉग आप सभी को अच्छा लगा होगा , कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के जरूर बताय कैसा लगा | अगर अच्छा लगा तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें |  

अन्य पढ़े :

क्या है खुशी ? जानिये खुश रहने के तरीके व फायदे !

बेकरी केक घर पर कैसे बनाये ?

ऑनलाइन पैसे कैसे कमाये ?

पेट की चर्बी को कैसे कम करें

कृत्रिम खाद और प्राकृतिक खाद में क्या अंतर है |


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *