हेलो दोस्तों आज का हमारा ब्लॉग खाना पैकिंग के लिए क्या सही है और क्या गलत, इसके बारे में हम इस ब्लॉग में बात करेंगे | कई लोग सोचते है की खाना पैकिंग कैसे करे ?,या फिर खाना पैकिंग का सही तरीका क्या है ? तो इसके लिए कुछ आसान टिप्स नीचे में दिए गए है , खाना कैसे और किस चीज में पैकिंग करे | जिससे आपका खाना जल्दी ख़राब नहीं होगा साथ ही सेहत भी |  

पेपर में खाना पैकिंग करने से क्या होता है ? 

क्या आप सभी को पता है की न्यूज़ पेपर में खाना पैकिंग करने से क्या  होता है , अगर नहीं तो घबराने की जरुरत नहीं है | अगर आप न्यूज़ पेपर पर रखकर कुछ खाते या टिफिन में रोटी लपेट कर ले जाते है, तो आप ने कभी सोचा है की क्‍या यह तरीका हमारे लिए अच्छा रहेगा | न्यूज़ पेपर पर गर्म खाना रखने से कई बार खाने पर स्याही चिपक जाता है,जिसे हम नहीं देख पते और हमारे भोजन का हिस्सा बन जाता है | दरअसल न्यूज़ पेपर के छपाई के लिए जिस स्याही का उपयोग किया जाता है, उसमें हानिकारक रसायन मौजूद होते हैं | ये रसायन बहुत ज्यादा  हानिकारक होते हैं,जिससे कैंसर जैसी बड़ी बीमारि होने का खतरा बना रहता है,साथ ही पेट दर्द भी हो सकता है | 

भोजन वैक्यूम पैकिंग | 

आमतौर कहा जय तो लंबे समय तक सूखी खाद्य पदार्थों को स्टोर के रखने के लिए इसका उपयोग किया जाता है, जैसे पनीर , स्मोक्ड फिश , कॉफी और आलू के चिप्स। इसका मुख्य उद्देश्य पैकिंग सामग्री को उत्पाद के साथ घनिष्ठ संपर्क में खींचकर ऑक्सीजन निकालना होता है।हम आपको बता दे की  वैक्यूम सील बंद खाद्य पदार्थ रेफ्रिजरेटर में 1-2 सप्ताह तक रहेंगे, जो 1-3 दिनों के भोजन की तुलना में काफी लंबा होता है, जब पारंपरिक रूप से रेफ्रिजरेटर में संग्रहीत किया जाता है। वैक्यूम सीलिंग कुशल, संगठित पैकिंग के लिए बनता है |

यात्रा के लिए भारतीय भोजन पैकिंग |

हेलो दोस्तों क्या आप को यह बात पता है, की भारतीय रेलवे स्टेशनों और ट्रेनों में सिंगल प्लास्टिक का उपयोग न करने के लिए कई प्रकार से प्रयास कर रहा है | जिसके वजह से रेलवे ने सभी स्टेशनों पर वैंडर्स निर्देश कर दिए है कि वे खाने- पीने का चीजे बेचने के लिए पॉलिथीन बैग का उपयोग न करें | प्लास्टिक के खिलाफ चलाया गए अभियान में कदम से कदम आगे बढ़ते हुए, रेलवे अब ट्रेनों में दिए जाने वाले खाने की पैकिंग में एल्युमिनियम फॉयल के उपयोग बंद करने जा रहा है | अब तो रेलवे ने इसकी शुरुआत भी कर रही है,अब तो नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के बेस किचन में एल्युमिनियम फॉयल के जगह खाने की पैकिंग के लिए गन्ने के वेस्ट से बनी प्लेटों का उपयोग कर रहा है | जो पूरी तरीके  से इको फ्रेंडली और बायोडिग्रेडेबल है

खाना पैकिंग बॉक्स  | 

क्या आप भी सोचते है की खाना पैकिंग के लिए क्या सही है और क्या गलत तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है , इसके लिए  सिल्वर पेपर फूड पैकिंग बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते है | ऐसे तो देखा जाए तो कई प्रकार की खाना पैकिंग बॉक्स बाजार में उपलब्ध है |  पर सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला सिल्वर पेपर फूड पैकिंग बॉक्स ही है ,लेकिन हम आपको बता दे की यह सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है | जब हम किसी गर्म चीज को इसमें लपेटते हैं  गर्म हो जाता है और इसमें प्रक्रिया शुरू हो जाती है. जिसके चलते  कुछ अंश खाने में चले जाते है | 

खाना पैकिंग पेपर नाम |

हेलो दोस्तों हम आपको बता दें कि बीते कुछ सालों में एल्युमिनियम फॉयल का प्रयोग काफी बढ़ा है | रोटी या पराठे को उसमें लपेट ते समय हमें यह लगता है, कि इसमें रखी चीजें सेफ और फ्रेश बनी रहेंगी लेकिन क्या सच्चाई भी यही है,एल्युमिनियम फॉयल का जब हम इस्तेमाल  खट्टे और मसालेदार भोजन के पैकिंग करते है | तब भोजन के संपर्क में आने से रासायनिक क्रिया शुरू होता है और ये हमारे शरीर के तंत्रिका तंत्र को काफी ज्यादा नुकसान पहुंचाता है | 

जिसका मशीन के ऑटोमेटिक होने की वजह से सिल्वर पेपर बनाने की प्रक्रिया बहुत सरल हो जाती है | सबसे पहले ब्राउन पेपर रोल को मशीन में कुछ ऐसे लगाया जाता है कि पेपर कहीं से भी मुद या फिर फट न जाए,और इसका उपयोग कम से कम करें | 

खाना पैकिंग कवर | 

खाना पैकिंग बॉक्स  |

हम लोग खाना पैकिंग करने के लिए जो कवर इस्तेमाल करते है क्या वह सही है या फिर नहीं | दोस्तों आज के समय में भागदौड़ भरी जीवनशैली में खानपान की आदतों में काफी  बदलाव आ चुका है,और साथ ही खाना पकाने और पैक करने के तरीकों में भी बदलाव आ रहा है। जहां की हम लोग पहले के समय में कागज खाना पैक करने के लिए करते थे |  वहीं आज की समय में इनकी  जगह एल्युमिनियम फॉयल ने ले रखी है।इसका इस्तेमाल खाना पकाने से लेकर सब्जियों एवं मांसाहार को ग्रिल्ड करने तक |  

एल्युमिनियम फॉयल का इस्तेमाल लोग एक ही चीज में नहीं बल्कि, निम्न तरीके से इस्तेमाल किया जाता है | इसमें गर्म खाना रखने या पकाने से कई प्रकार के हानिकारक केमिकल्स सीधे शरीर के अंदर जाते है,इसलिए इसका इस्तेमाल जितना कम हो सके करें | 

बैग पैकिंग भोजन | 

बहुत लोग यह सोचते है की काम पर भोजन कैसे ले कर जाए या फिर खाना पैकिंग के लिए क्या सही है और क्या गलत |  अगर आप भी कहीं काम या फिर जॉब करते हो ,तो आप को भी भोजन पैकिंग बैग की जरूरत पड़ सकती है | भोजन बैग हमारे लिए काफी अच्छा रहता है ,और इसके मदद से हम अपना भोजन भी अच्छे से काम पर या फिर कहे तो जॉब पर ले जा सकते है | यह आपको ऑनलाइन या फिर मार्केट में भी आसानी से मिल जायगा ,और बहुत काम पैसे में | 

हेलो दोस्तों आज का हमारा ब्लॉग ‘खाना पैकिंग के लिए क्या सही है और क्या गलत’ के बारे में लिखा हुआ है | उम्मीद करते है की आप को ये ब्लॉग काफी पसंद आया होगा ,अगर आप को हमारा ब्लॉग अच्छा लगा तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे | 

अन्य पढ़े :

केवाईसी ऑनलाइन करें

क्या है खुशी ? जानिये खुश रहने के तरीके व फायदे !


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *