अगर आप खाना खाने से ज्यादा खाना बनाने के शौकीन हैं और आप कुकिंग में ही अपना करियर बनाना चाहते हैं। आपके पास किचन स्टोर बिजनेस को खोलने के लिए भी पर्याप्त लागत नहीं है और प्रतिस्पर्धा बहुत होने के कारण आप फेसबुक,यूट्यूब जैसे सोशल मीडिया पर भी कुकिंग के वीडियोस में हाथ नहीं आजमा पा रहे हैं। इसलिए आप केंद्र और राज्य सरकार के अंतर्गत आने वाली विभिन्न विभाग, जो की कुकिंग से सम्बंद्ध हो, उसमें कुकिंग के जॉब के अवसर ढूंढ रहे हैं।

       इसके लिए आप इंटरनेट पर भी घंटों अपना समय बिता रहे हैं और फिर भी आपके लिए यह जान पाना बहुत मुश्किल हो रहा है कि कुकिंग की अच्छी जॉब कहां पर मिलेगी। तो आप की तलाश अब यही खत्म हो रही है, क्योंकि कुछ सीखे के इस लेख हम आपको कुकिंग  के जॉब से जुड़ी सारी जरूरी जानकारी को विस्तार से बताने वाले हैं।

        केंद्र और राज्य सरकार के द्वारा कई मंत्रालयों के अंतर्गत कैटरिंग का कार्य भी कराया जाता है। जिसके तहत कुकिंग के जॉब के लिए समय-समय पर विभिन्न पदों के लिए वैकेंसी की अधिसूचना भी सरकार द्वारा जारी की जाती है।  भारत सरकार द्वारा खानपान की विशेष व्यवस्था के तहत रेलवे कैटरिंग, टूरिज्म डेवलपमेंट कॉरपोरेशन, आर्मी, नेवी, अर्धसैनिक बलों के बटालियन और कई अन्य विभागों में कुकिंग की जॉब के लिए रिक्त पदों पर नियुक्ति की जाती है।

       इन नियुक्ति के तहत कुक को संबंधित संस्थानों के चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी के रूप में कार्य करना होता है। इसके अलावा भारत सरकार और राज्य सरकार के मंत्रालयों व विभागों के अंतर्गत कई अतिथि गृह (गेस्ट हाउस) का भी संचालन किया जाता है। इन अतिथि गृह में आने वाले अतिथियों के रसोई के साथ-साथ खानपान संबंधी सारी व्यवस्था हेतु ऑलराउंडर कुक की भर्ती की जाती है।

        इन सरकारी संस्थानों के अंतर्गत कुकिंग की जॉब कैसे मिलेगी,  इस बात को जानने से पहले एक ऑलराउंडर कुक क्या होता हैं और उनके कर्तव्य क्या होते है? इसके बारे में जान लेते हैं –

 एक ऑलराउंडर कुक क्या होता हैं?

        अगर आप सोचते हैं कि कुक यानि शेफ का काम सिर्फ खाना बनाना होता है। तो आप गलत सोचते हैं, क्योंकि शेफ या ऑलराउंडर कुक वो होता है, जिसे हर सब्जी, मसाले और किचन से जुड़ी बारीकियों की अच्छी परख हो। वो कम से कम समय में बेहतर और नये डिश बनाने के साथ-साथ बेहतरीन तरीके से पेश करने में सक्षम हो।

 कुक के मुख्य कार्य और जिम्मेदारी –

1. जिस विभाग या संस्थान के अंतर्गत कार्यरत हो, उसके निर्धारित मानक (स्टैण्डर्ड)और गुणवत्ता को बनाए रखते हुए वरिष्ठो या विभाग द्वारा सौंपे गए दैनिक भोजन की तैयारी और कर्तव्य का ध्यान रखना।

2. साथ के अन्य कुक और हेल्परों की निगरानी का जिम्मा लेना।

3. दैनिक उपयोग में आने वाले सामग्रियों का सही अनुमान लगाना और मानको को पूरा करते हुए सभी कच्चे-पक्के  खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता का समय-समय पर जांच करना।

4. बनने के बाद भोजन की गुणवत्ता और प्रस्तुतिकरण का विशेष ध्यान रखना।

5. भोजन तैयार करते समय भंडारण और स्वच्छता संबंधी सभी मानको व नीतियों के स्तर को बनाए रखना।

6. विभाग के सभी उपयोग में आने वाले उपकरणों का सही संचालन और रखरखाव व खराबी आने पर ऊपर रिपोर्ट करना।

7. अत्यधिक काम के दबाव में आसपास के वातावरण को शांत बनाए रखना।

       आपको बता दे कि नेवी, आर्मी, इंडियन रेलवे, टूरिस्ट विभाग, सरकारी अतिथिगृह आदि में कुक की भर्ती के लिए समय-समय पर संबंधित विभागों द्वारा नियुक्ति अधिसूचना अपने आधिकारिक वेबसाइट और दैनिक समाचार पत्र में जारी की जाती हैं। आइए अब जानते हैं कि सरकार के  इन विभिन्न विभागों के अंतर्गत कुकिंग की जॉब कैसे मिलेगी।

       सरकारी विभागों में कुक की भर्ती ट्रेड्समैन वर्क के तहत किया जाता है। ट्रेड्समैन के अंतर्गत  कुक यानि रसोईया,  सफाई कर्मी, मेस कीपर, पेंटर, कारपेंटर,दर्जी,संगीतकार सहित 18 पदों को शामिल किया गया है। आर्मी में सी टी कुक का मतलब होता है कॉन्स्टेबल ट्रेड्समैन कुक, जिसका काम आर्मी के जवानों और अधिकारियों के लिए खाना बनाने का होता है। ठीक इसी तरह बीएसएफ या बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स  में भर्ती के लिए भी कौन सा फॉर्म भरना चाहिए, अगर यह भी कन्फ्यूजन आपको है, तो बता दें कि सभी सेना संस्थान और बीएसएफ में कांस्टेबल ट्रेड्समैन  भर्ती आवेदन फॉर्म को ही भरा जाता है।

      जबकि इंडियन रेलवे ने, जो सालों से ग्रुप डी के तहत ट्रेड्समैन भर्ती प्रक्रिया के अंतर्गत कुक की भर्ती करता आ रहा है। अब मई 2022 से कुक सहित अन्य कई पदों पर भर्ती प्रक्रिया समाप्त करते हुए इन कार्यों को आउटसोर्सिंग के माध्यम से लेने का निर्णय लिया है। इसके अलावा केंद्र और राज्य सरकार के कई विभागों के अतिथि गृह में भी कुक की भर्ती कहीं रसोईया नियुक्ति के लिए वैकेंसी निकाल कर किया जाता है, तो कहीं आउटसोर्सिंग के माध्यम से किया जाता है। 

 कुकिंग के जॉब के लिए योग्यता और पात्रता –

  • आवेदक ने मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 10वीं या 12वीं की परीक्षा पास की हो।
  • भारतीय पाक कला और व्यापार में दक्ष हो।
  •  आवेदक की उम्र 18 वर्ष से 25 वर्ष के अंतर्गत होने चाहिए। हालांकि कुछ विभाग के अधिकतम आयु सीमा 28 वर्ष की होती है। इसके अलावा आरक्षित वर्ग जैसे अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और ओबीसी से संबंधित लोगों को आयु सीमा में छूट भी दी जाती है।
  • आवेदक ने मान्यता प्राप्त संस्थान से कुकिंग या कैटरिंग संबंधी डिप्लोमा ली हो, तो उनके चयन की संभावना बढ़ जाती हैं।

भारत में कैटरिंग में होटल मैनेजमेंट के कोर्स कराने वाले संस्थान –

       भारत में कैटरिंग में होटल मैनेजमेंट के कोर्स कराने वाले संस्थान निम्नानुसार है –

  •  इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग एंड न्यूट्रिशन, पूसा नई दिल्ली
  • गवर्नमेंट इंस्टीट्यूट आफ होटल मैनेजमेंट, कैटरिंग टेक्नोलॉजी एंड अप्लाइड न्यूट्रिशन,देहरादून,
  • जीआईएचएमसीटी नागपुर,
  • डॉ अंबेडकर इंस्टीट्यूट आफ होटल मैनेजमेंट, चंडीगढ़
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट, जयपुर

          जैसे प्रमुख संस्थानों से कैटरिंग के कोर्स को कर सकते है।  इस कोर्स करने के बाद आपके चयन प्रक्रिया में आसानी होगी।

 कुक के भर्ती के लिए चयन प्रक्रिया और सैलरी

     भारतीय सेना जैसे किसी भी सरकारी विभाग में कुक के उम्मीदवार का चयन लिखित परीक्षा और भौतिक परीक्षा (फिजिकल टेस्ट ) के माध्यम से होता है। आवश्यकता पड़ने पर साक्षात्कार भी लिया जा सकता है। लिखित परीक्षा में ट्रेड्समैन के लिए सिलेबस निर्धारित होता है जबकि भौतिक परीक्षा में उनके लंबाई,  चौड़ाई और दौड़ आदि का आंकलन किया जाता है।अन्य सरकारी विभागों में रसोईया की भर्ती लिखित परीक्षा और स्किल टेस्ट के आधार पर किया जाता है।

    सरकारी संस्थानों में कुक की सैलरी ₹5200 से ₹20200 और ग्रेड पे 1800 हर महीने मिलती है, जबकि इन विभागों में आउटसोर्सिंग या संविदा भर्ती कुक के महीने की सैलरी 15000 से 20000 तक होती है।

कुक यदि खुद का किचन स्टोर बिज़नेस खोलना चाहते है तो

      यदि आपको लगता है कि आप सेना या सरकारी विभाग के कुक के जॉब में चयनित हो सकते हैं, तो आपको कुक के सभी रिक्त पदों की भर्ती परीक्षा में शामिल होना चाहिए और यदि आप कुक के तौर पर अपना खुद का किचन स्टोर बिज़नेस खोलना चाहते हैं, तो आपको थोड़ा इन्वेस्टमेंट तो करना पड़ेगा।

    अपने किचन स्टोर बिज़नेस की शुरुआत से पहले आपको प्री प्लान करने की जरूरत होगी। इसमें प्रोडक्ट के डिस्प्ले एरिया,  कैश काउंटर और किचन स्टोरेज की जगह को तय करना होगा और ग्राहकों के आकर्षित करने वाले डिजाइन बनवाने होंगे। 

    एक किचन स्टोर बिज़नेस करने में कम से कम आपको ₹3 से ₹5 लाख तक की लागत लग जाएगी। आप अपने पसंद के अनुसार मेनू बार तय कर सकते हैं,  जिसमें आप निपूर्ण हो।आपके किचन स्टोर अच्छे लोकेशन पर होने से आपके कमाई का दायरा और बढ़ सकता है।

      दोस्तों,  इस कुछ सीखें के लेख में हमने आपको “कुकिंग की जॉब कहां पर मिलेगी ” से जुड़ी सारी जानकारी विस्तार से बताया हैं। यदि आपको लेख पसंद आया हो, तो कमेंट में जरूर बताएं। 

अग्निपथ योजना क्या है ? जाने इसके लाभ और विशेषताओं के बारे में |

वर्कआउट के पहले चना खाएं या बाद में |

स्पोर्ट्स मैनेजमेंट में कैरियर कैसे बनायें |


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.